आज हिमालय की चोटी से, ध्वज भगवा लहराएगा ।
जाग उठा है हिन्दू फिर से, भारत स्वर्ग बनाएगा ॥ध्रु॥इस झंडे की महिमा देखो, रंगत अजब निराली है ।
इस पर तो ईश्वर ने डाली सूर्योदय की लाली है ।
प्रखर अग्नि में इसकी पड़, शत्रु स्वाहा हो जाएगा ॥१॥

इस झंडे को चन्द्रगुप्त ने हिन्दू-कुश पर लहराया ।
मरहटों ने मुग़ल-तख़्त को चूर-चूर कर दिखलाया ।
मिट्टी में मिल जाएगा जो इसको अकड़ दिखाएगा ॥२॥

इस झंडे की खातिर देखो प्राण दिए रानी झांसी ।
हमको भी यह व्रत लेना है, सूली हो या हो फांसी ।
बच्चा-बच्चा वीर बनेगा, अपना रक्त बहाएगा ॥३॥

āja himālaya kī coṭī se dhvaja bhagavā laharāegā |
jāga uṭhā hai hindū phira se bhārata svarga banāegā ||dhru||

isa jhaṁḍe kī mahimā dekho raṁgata ajaba nirālī hai |
isa para to īśvara ne ḍālī sūryodaya kī lālī hai |
prakhara agni meṁ isakī paṛa śatru svāhā ho jāegā ||1||

isa jhaṁḍe ko candragupta ne hindū-kuśa para laharāyā |
marahaṭoṁ ne muġala-tata ko cūra-cūra kara dikhalāyā |
miṭṭī meṁ mila jāegā jo isako akaṛa dikhāegā ||2||

isa jhaṁḍe kī khātira dekho prāṇa die rānī jhāṁsī |
hamako bhī yaha vrata lenā hai sūlī ho yā ho phāṁsī |
baccā-baccā vīra banegā apanā rakta bahāegā ||3||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply