भोले में तेरे दर पे, कुछ आस लिए आया हूँ ,
तेरे दर्शन की मन में, एक प्यास लिए आया हूँ ,
अब छोड़ दिया जग सारा, सब तोड़ दिए रिश्ते,
विश्वास है भक्ति का, मन में विश्वास लिए आया हूँ।

भोले मेरी नैया को भाव पार लगा देना
है आपके हाथो में मेरी बिगड़ी बना देना

तुम शंख बजा करके दुनिया को जगाते हो
डमरू की मधुर धुन से सद्मार्ग दिखाते हो
में मूरख सब मेरे अवगुण को भुला देना
भोले मेरी नैय्या को भाव पार लगा देना।

दुनिया जिसे कहते है माया है तुम्हारी,
कण कण में यहाँ शम्भू छाया है तुम्हारी,
मेरा तो कुछ भी नहीं है ना स्वास है न धड़कन,
ये प्राण है तुम्हारा काया है तुम्हारी।

हर और अँधेरा है तूफ़ान ने घेरा है
कोई राह नहीं दिखती एक तुझपे भरोसा है
एक आस लगी तुझसे मेरी लाज बचा लेना
भोले मेरी नैय्या को भाव पार लगा देना।

हे जगदम्बा के स्वामी देवादिदेव नमामि
सबके मन की तुम जानो शिव शंकर अंतर्यामी
दुःख आप मेरे मन का महादेव मिटा देना
भोले मेरी नैया को भाव पार लगा देना।

हे महाकाल तुम्हारे दर पे लोग,
खाली हाथ आते है,
और झोली भर कर जाते है,
कोई बात तो है महाकाल,
तुम्हारे दर्शन में,
तभी तो लाखो लोग,
तुमको शीश झुकाते है।

महादेव जटा में तुमने गंगा को छुपाया है
माथे पर चन्द्र सजाया विषधर लिपटाया है
मुझे नाथ गले अपने महाकाल लगा लेना
भोले मेरी नैय्या को भाव पार लगा देना।

भोले मेरी नैया को भाव पार लगा देना
है आपके हाथो में मेरी बिगड़ी बना देना।

 

Bhole Me Tere Dar Pe
Kuch Aas Liye Aaya Hu
Tere Darshan Ki Man Me
Ek Pyaas Liye Aaya Hu

Ab Chhod Diya Jag Sara
Sab Tod Diye Rishte
Vishvaas Hai Bhaki Ka
Man Me Vishvaas Liye Aaya Hu

Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena
Hai Aapke Hatho Me
Meri Bigdi Bana Dena

Tum Sankh Baja Karke
Duniya Ko Jagate Ho
Damru Ki Madhur Dhun Se
Sanmarg Dikhate Ho

Main Murakh Sab Mere
Avgun Ko Bhula Dena
Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena

Duniya Jise Kehte Hai
Maaya Hai Tumhari
Kan Kan Me Yaha Shambhu
Chhaya Hai Tumhari

Mera To Kuch Bhi Nahi Hai
Na Swaas Hai Na Dhadkan
Ye Praan Hai Tumhara
Kaaya Hai Tumhari

Har Koi Andhera Hai
Toofan Ne Ghera Hai
Koi Raah Nahi Dikhti
Ek Tujhpe Bharosa Hai

Ek Aas Lagi Tujhse
Meri Laaj Bacha Lena
Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena

Hey Jagdamba Ke Swami
Deva Di Dev Namami
Sabke Man Ki Tum Jano
Shiv Shankar Antrayami

Dukh Aap Mere Man Ka
Mahadev Mita Dena
Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena

Hey Mahakaal Tumhare Dar Pe Log
Khali Haath Aate Hai
Aur Jholi Bhar Kar Jate Hai
Koi Baat To Hai Mahakaal
Tumhare Darshan Me
Tabhi To Lakho Log
Tumko Shish Jhukate Hai

Mahadev Jata Me Tumne
Ganga Ko Chhupaya Hai
Mathe Par Chandra Sajaya
Vishdhar Liptaya Hai

Mujhe Naath Gale Apne
Mahakaal Laga Lena
Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena

Bhole Meri Naiya Ko
Bhav Paar Laga Dena
Hai Aapke Hatho Me
Meri Bigdi Bana Dena

, , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply