ज्वाला मैया का दरबार यो अकबर देखन आया लिरिक्स Jwala Maiya Ka Darbar Lyrics Mata Rani Navratri Bhajan

ज्वाला मैया का दरबार,
यो अकबर देखन आया,
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।
यो अकबर देखन आया,
यो राजा देखनआया,
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

बिन तेल दिया ना बाती,
जहां ज्योत जले दिन दिन राति,
वहाँ पे हो रही जय जयकार,
यो अकबर देखने आया
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

पाणी के कुवे खुदवाए,
मंदिर में पानी भरवाए,
ज्योति पानी में लहराए,
ये अकबर देखने आया
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

लोहे के तवे मँगवाए,
ज्योति के ऊपर लगवाए,
ज्योति निकाल गयी सरपार,
यो अकबर देखने आया
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

अकबर को हुई हैरानी,
मुझे माफ़ करो महारानी
मैया हम बालक नादान,
यो अकबर देखने आया
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

सोने का छत्तर चढ़ाया,
मैया का मान बढ़ाया
वहाँ पे हो रही जय जयकार,
यो अकबर देखने आया
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

ज्वाला मैया का दरबार,
यो अकबर देखन आया,
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।
यो अकबर देखन आया,
यो राजा देखनआया,
ज्वाला मैया को दरबार
यो अकबर देखन आया।

Leave a Reply