नमो नमस्ते नमो नमो भगवद् ध्वज हे नमोस्तु ते

अरुणारुण कान्ति विराजित हे।
अधिकाधिक कीर्ति प्रसारित हे
उष्ण -शीत भानूदिगर जय हे
दुर्निरीक्ष्य तेज प्रभ जय हे
जय जय जय जय जय जय जय जय
नमो नमस्ते ॥१॥

मलयानिल पुत निजांचल सम्भ्रम
व्यापक शब्द विवोधित दिक्
दीप्त हिन्दु -वीरोन्नति जय हे
तृप्त हिन्दु-भावोन्नति जय हे
जय जय जय जय जय जय जय
नमो नमस्ते ॥२॥

गत-वैभव साधन पर परिसंगठिता –
-खिल हिन्दु शुभोज्ज्वल हे
पुर्व पुण्य -मुर्तिप्रभ जय हे
पुण्य-दान संभूषित जग हे
जय जय जय जय जय जय जय
नमो नमस्ते ॥३॥

namo namaste namo namo bhagavad dhvaja he namostu te

aruṇāruṇa kānti virājita he |
adhikādhika kīrti prasārita he
uṣṇa -śīta bhānūdigara jaya he
durnirīkṣya teja prabha jaya he
jaya jaya jaya jaya jaya jaya jaya jaya
namo namaste ||1||

malayānila puta nijāṁcala sambhrama
vyāpaka śabda vivodhita dik
dīpta hindu -vīronnati jaya he
tṛpta hindu-bhāvonnati jaya he
jaya jaya jaya jaya jaya jaya jaya
namo namaste ||2||

gata-vaibhava sādhana para parisaṁgaṭhitā –
-khila hindu śubhojjvala he
purva puṇya -murtiprabha jaya he
puṇya-dāna saṁbhūṣita jaga he
jaya jaya jaya jaya jaya jaya jaya
namo namaste ||3||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply