श्री राम प्रेमाष्टक – Shri Ram Premashtak

जो मनुष्य यामुनाचार्य के द्वारा रचित इस दिव्य तथा कल्याणदायक श्रीरामप्रेमाष्टक-स्तोत्र का शुद्धभाव से पाठ करता है, भगवान् श्रीरामचन्द्रजी उसके...

विष्णोरष्टाविंशतिनाम स्तोत्र – Vishnorashtavinshati Naam Stotra

प्रतिदिन सायं-प्रातः एवं मध्याह्न के समय श्रीविष्णोरष्टाविंशतिनाम स्तोत्र का स्मरणपूर्वक जप करनेवाला पुरुष सम्पूर्ण पापों से मुक्त हो जाता है...

गीत गोविन्द – Geet Govinda

गीतगोविन्द जयदेव की काव्य रचना है। गीत गोविन्द में श्रीकृष्ण की गोपिकाओं के साथ रासलीला, राधाविषाद वर्णन, कृष्ण के लिए...

दुर्गा कवच – Durga Kavach

मुण्डमालातन्त्र (रसिक मोहन विरचित) पटल ६ के श्लोक २०२-२१० में वर्णित इस मोहनकारी दुर्गा कवच का श्रवण अथवा पाठ करने...