Rashtra Me nava teja jaaga-राष्ट्र में नव-तेज जागा

राष्ट्र में नव-तेज जागा शिशिर बीता परकीयता का
राष्ट्र में नव-तेज जागा।
संघ रवि चमका प्रखरतम घन अंधेरा दूर भागा
राष्ट्र में नव-तेज जागा।

आज की हिन्दुत्व की ले भावनाएँ है अनुप्राणित शिराएँ
मानसर नेपाल से सागर शिलाएँ
मुक्तकों को मालिका में है पिरोता संगठन का प्रेम धागा
राष्ट्र में नव-तेज जागा ॥१॥

भेद करके गहन परदा चीरकर भ्रम की तमिस्रा
फूट निकली रश्मि माला पूज्य केशव की तपस्या
है जगाती आ रही यह देश भर में सुमन शाखा
राष्ट्र में नव-तेज जागा ॥२॥

हो बिकस सम्पूर्ण कलियाँ हों सुगन्धित कुंज गलियाँ
क्यारियाँ फिर स्वर्ण उगलें स्वर्ण उगले क्यारियाँ
मलय माधव के करों से उमड़ती श्रम शक्ति गंगा
राष्ट्र में नव-तेज जागा ॥३॥

English Transliteration:
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā śiśira bītā parakīyatā kā
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā |
saṁgha ravi camakā prakharatama ghana aṁdherā dūra bhāgā
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā |

āja kī hindutva kī le bhāvanāe hai anuprāṇita śirāe
mānasara nepāla se sāgara śilāe
muktakoṁ ko mālikā meṁ hai pirotā saṁgaṭhana kā prema dhāgā
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā ||1||

bheda karake gahana paradā cīrakara bhrama kī tamisrā
phūṭa nikalī raśmi mālā pūjya keśava kī tapasyā
hai jagātī ā rahī yaha deśa bhara meṁ sumana śākhā
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā ||2||

ho bikasa sampūrṇa kaliyā hoṁ sugandhita kuṁja galiyā
kyāriyā phira svarṇa ugaleṁ svarṇa ugale kyāriyā
malaya mādhava ke karoṁ se umaṛatī śrama śakti gaṁgā
rāṣṭra meṁ nava-teja jāgā ||3||

Leave a Reply