आज पूजा की घड़ी है॥

साधना के शूलमय पथ पर सदा सबको बढ़ाता
ध्येय की धुन धमनियों में फूँकता युग क्रान्ति लाता
हर फड़क में राष्ट्र के उत्थान की आशा भरी है ॥
आज पूजा की घड़ी है॥१॥

सूर्य की पहली छटा की अग्नि का है वास इसमें
पूर्वजों की यह पताका विजय का विश्वास इसमें
कोटि ह्रदयों के मिलन की भावना इसमें जुडी है।
आज पूजा की घड़ी है ॥२॥

राष्ट्र का निर्माण पोषण वृध्दि है इसकी कहानी
आन पर बलिदान की है प्रेरणामय यह निशानी
राष्ट्रपुरुषों की चिरंतन कल्पनाओं की कड़ी है।
आज पूजा की घड़ी है ॥३॥

इस ध्वजा से श्रेष्ठ जीवन का अमर संदेश पावें
औंर लाखों प्राण इंगित मात्र पर इसके चढ़ावें
फिर सफलता हाथ जोड़े सामने मानो खड़ी है।
आज पूजा की घड़ी है ॥४॥

āja pūjā kī ghaṛī hai ||

sādhanā ke śūlamaya patha para sadā sabako baṛhātā
dhyeya kī dhuna dhamaniyoṁ meṁ phūkatā yuga krānti lātā
hara phaṛaka meṁ rāṣṭra ke utthāna kī āśā bharī hai ||
āja pūjā kī ghaṛī hai ||1||

sūrya kī pahalī chaṭā kī agni kā hai vāsa isameṁ
pūrvajoṁ kī yaha patākā vijaya kā viśvāsa isameṁ
koṭi hradayoṁ ke milana kī bhāvanā isameṁ juḍī hai |
āja pūjā kī ghaṛī hai ||2||

rāṣṭra kā nirmāṇa poṣaṇa vṛdhdi hai isakī kahānī
āna para balidāna kī hai preraṇāmaya yaha niśānī
rāṣṭrapuruṣoṁ kī ciraṁtana kalpanāoṁ kī kaṛī hai |
āja pūjā kī ghaṛī hai ||3||

isa dhvajā se śreṣṭha jīvana kā amara saṁdeśa pāveṁ
auṁra lākhoṁ prāṇa iṁgita mātra para isake caṛhāveṁ
phira saphalatā hātha joṛe sāmane māno khaṛī hai |
āja pūjā kī ghaṛī hai ||4||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply