SRIMADBHAGWAT GEETA MEANING IN HINDI

और इस तरह मुक्ति के मार्ग को लेकर अर्जुन की जिज्ञासा बढ़ी

किं तद्बह्य किमध्यात्मं किं कर्म पुरुषोत्तम। अधिभूतं च किं प्रोक्तमधिदैवं किमुच्यते। 8/1 हे पुरुषोत्म! ब्रह्म क्या है, अध्यात्म क्या है,...

गीताः जब भगवान श्रीकृष्ण ने बताया अपना रहस्य

अधिभूतं क्षरो भाव: पुरुषश्चाधिदैवतम्। अधियज्ञोऽहमेवात्र देहे देहभृतां वर ।। गीता 8/4।। अर्थ: हे शरीरधारियों में श्रेष्ठ (अर्जुन)! अधिभूत मेरी नश्वर...

इस इच्छा से ब्रह्मचर्य का पालन किया जाता है

यदक्षरं वेदविदो वदन्ति विशन्ति यद्यतयो वीतरागा:। यदिच्छन्तो ब्रह्मचर्यं चरन्ति तत्ते पदं संग्रहेण प्रवक्ष्ये।। गीता 8/11।। अर्थ : मैं, संक्षेप में...