Bharat mata tera aanchal । भारत माता तेरा आंचल हरा भरा धानी धानी || RSS Geet( संघ गीत माला )

भारत माता तेरा आँचल , हरा – भरा धानी – धानी।

मीठा – मीठा चम् -चम करता , तेरी नदियों का पानी। २

हरी हो गयी बंजर धरती , नाचे झरनो में बिजली।

सोना चांदी उगल रही है , तेरी नदियों का पानी।

भारत माता तेरा आँचल , हरा – भरा धानी – धानी।

मीठा – मीठा चम् -चम करता , तेरी नदियों का पानी।

मस्त हवा जब लहराती है , दूर – दूर तक पहुंचाती है।

तेरे ऊँचे ऊँचे पर्वत , निडर बहादुर सेनानी .

भारत माता तेरा आँचल , हरा – भरा धानी – धानी।

मीठा – मीठा चम् -चम करता , तेरी नदियों का पानी।

Leave a Reply