चल पड़े पैर जिस ओर पथिक उस पथ से फिर डरना कैसा
यह रुक-रुक कर बढ़ना कैसा

होकर चलने को उद्यत तुम ना तोड़ सके बन्धन घर के
सपने सुख वैभव के राही ना छोड़ सके अपने उर के।
जब शोलों पर ही चलना है पग फूँक-फूँक रखना कैसा॥१॥

पहले ही तुम पहचान चुके यह पथ तो काँटों वाला है।
पग-पग पर पड़ी शिलाएँ है कंकड़ मय काँटों वाला है।
दुर्गम पथ अंधियारा छाया फिर मखमल का सपना कैसा॥२॥

होता है प्रेम फकीरी से इस पथ पर चलने वालों को
पथ पर बिछ जाना पड़ता है इस पथ पर बढ़ने वालों को
अपने सुख को खोने आकर यह सुख-दुख का रोना कैसा॥३॥

वह माल मलीदे दूर रहे रोटी के भी पड़ते लाले
मखमल रेशम के बदले में चिथड़ों से हैं पड़ते पाले।
यह राह भिखारी बनने की सुख वैभव का सपना कैसा॥४॥

इस पथ पर बढ़ने वालों को बढ़ना ही है केवल आता।
आती जो मग में बाधाएँ उनसे बस लड़ना ही आता।
तुम भी जब चलते उस पथ पर फिर रुकना औ झुकना कैसा॥५॥

cala paṛe paira jisa ora pathika usa patha se phira ḍaranā kaisā
yaha ruka-ruka kara baṛhanā kaisā

hokara calane ko udyata tuma nā toṛa sake bandhana ghara ke
sapane sukha vaibhava ke rāhī nā choṛa sake apane ura ke |
jaba śoloṁ para hī calanā hai paga phūka-phūka rakhanā kaisā ||1||

pahale hī tuma pahacāna cuke yaha patha to kāṭoṁ vālā hai |
paga-paga para paṛī śilāe hai kaṁkaṛa maya kāṭoṁ vālā hai |
durgama patha aṁdhiyārā chāyā phira makhamala kā sapanā kaisā ||2||

hotā hai prema phakīrī se isa patha para calane vāloṁ ko
patha para bicha jānā paṛatā hai iasa patha para baṛhane vāloṁ ko
apane sukha ko khone ākara yaha sukha-dukha kā ronā kaisā ||3||

vaha māla malīde dūra rahe roṭī ke bhī paṛate lāle
makhamala reśama ke badale meṁ cithaṛoṁ se haiṁ paṛate pāle |
yaha rāha bhikhārī banane kī sukha vaibhava kā sapanā kaisā ||4||

isa patha para baṛhane vāloṁ ko baṛhanā hī hai kevala ātā |
ātī jo maga meṁ bādhāe unase basa laṛanā hī ātā |
tuma bhī jaba calate usa patha para phira rukanā au jhukanā kaisā ||5||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply