जय हे। जय हे। जय हे तेरी।
जय हे। जय हे। जय हे तेरी।
सुन्दर सुभग सुहागिन माँ।

शुभ्र मुकुट हिम माथे शोभित
सागर लहरें नित पग धोवत
गंगा यमुना सिन्धु नर्मदा-
जयमाला बन मन को मोहत
शश्य श्यामला षट-ऋतु वाली
हरा भरा तव कानन माँ ॥१॥

आदि पुरुष मनु के पुत्रों की
वेदों की वरदानी वाणी
अष्ट-सिद्धि नवविधियों वाली
अन्नपुर्णा जग कल्याणी
नीलम नयना उज्ज्वल बसना
शरद ज्योत्स्ना आनन माँ ॥२॥

शीश अनेकों झुके चरण में
आशिष मांगे पड़े शरण में
तेरी कीर्ति पताका माता
ऊँची फहरे नील गगन मे
तेरा मंगलमय शुभ मन्दिर
हो जग -वन्दित भारत् माँ॥३॥

तन- मन धन और निज जीवन से
निशि -दिन के क्षण-क्षण चिन्तन से
अक्षय दीप जलायें अगणित
विकसित नव जीवन यौवन से
ज्योतित कर दे आशा भर दे
कण-कण में अति पावन् माँ॥४॥

English Transliteration:
jaya he | jaya he| jaya he terī|
jaya he | jaya he| jaya he terī|
sundara subhaga suhāgina mā|

śubhra mukuṭa hima māthe śobhita
sāgara lahareṁ nita paga dhovata
gaṁgā yamunā sindhua narmadā-
jayamālā bana mana ko mohata
śaśya śyāmalā ṣaṭa-ṛtu vālī
harā bharā tava kānana mā ||1||

ādi puruṣa manu ke putroṁ kī
vedoṁ kī varadānī vāṇī
aṣṭa-siddhi navavidhiyoṁ vālī
annapurṇā jaga kalyāṇī
nīlama nayanā ujjvala basanā
śarada jyotsnā ānana mā ||2 ||

śīśa anekoṁ jhuke caraṇa meṁ
āśiṣa māṁge paṛe śaraṇa meṁ
terī kīrti patākā mātā
ūcī phahare nīla gagana me
terā maṁgalamaya śubha mandira
ho jaga -vandita bhārat mā ||3||

tana- mana dhana aura nija jīvana se
niśi -dina ke kṣaṇa-kṣaṇa cintana se
akṣaya dīpa jalāyeṁ agaṇiata
vikasita nava jīvana yauvana se
jyotita kara de āśā bhara de
kaṇa-kaṇa meṁ ati pāvan mā ||4||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply