जहाँ पवन बहे संकल्प लिए
जहाँ पर्वत गर्व सीखातें हैं
जहाँ ऊँचे नीचे सब रस्ते
भक्ति के सुर में गाते हैं ||

उस देवभूमि के ध्यान से
मै धन्य धन्य हो जाता हूँ
उस देवभूमि के ध्यान से
मै धन्य धन्य हो जाता हूँ ||

है भाग्य मेरा सौभाग्य मेरा
मै तुमको शीश नवाता हूँ ||

मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ
मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ
हो जाता हूँ, हो जाता हूँ ||

मांडवे की रोटी और हुड़के की थाप
हर एक मन करता शिवजी का जाप
ऋषि मुनियों की है ये तपोभूमी
इतने वीरों की ये जन्मभूमी ||

तुम आँचल हो भारत का
जीवन की धूप में छाँव तुम |

तुम आँचल हो भारत का
जीवन की धूप में छाँव तुम
बस छूने से तर जाए
सबसे पवित्र वो पाँव हो तुम ||

बस लिए समर्पण तन मन से
मै देवभूमी में आता हूँ
है भाग्य मेरा सौभाग्य मेरा
मै तुमको शीश नवाता हूँ ||

मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ
मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ ||

मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ
मै तुमको शीश नवाता हूँ
और धन्य धन्य हो जाता हूँ
हो जाता हूँ, हो जाता हूँ ||

है भाग्य मेरा सौभाग्य मेरा
मै तुमको शीश नवाता हूँ
मै तुमको शीश नवाता हूँ ||

Jahan Pavan Bahe Sankalp Liye
Jahan Parvat Garv Sikhatein Hain
Jahan Unche Neeche Sab Raste
Bas Bhakti Ke Sur Mein Gaate Hain

Jahan Pavan Bahe Sankalp Liye
Jahan Parvat Garv Sikhatein Hain

Jahan Pavan Bahe Sankalp Liye
Jahan Parvat Garv Sikhatein Hain
Jahan Unche Neeche Sab Raste
Bhakti Ke Sur Mein Gaate Hain

Uss Devbhoomi Ke Dhyan Se
Main Dhany Dhany Ho Jata Hoon
Uss Devbhoomi Ke Dhyan Se
Main Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon

Hai Bhagy Mera Saubhagy Mera
Main Tumko Shish Navata Hoon

Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon
Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon
Ho Jaata Hoon Ho Jaata Hoon

Mandve Ki Roti Aur Hudke Ki Thaap
Har Ek Mann Karta Shivji Ka Jaap
Rishi Muniyon Ki Hai Yeh Tapobhoomi
Itne Veeron Ki Yeh Janmbhoomi

Tum Aanchal Ho Bharat Ka
Jeevan Ki Dhoop Mein Chhanv Tum

Tum Aanchal Ho Bharat Ka
Jeevan Ki Dhoop Mein Chhanv Tum
Bas Chhune Se Tar Jaye
Sabse Pavitr Woh Paanv Ho Tum

Bas Liye Samarpan Tann Mann Se
Main Devbhoomi Mein Aata Hoon
Hai Bhagye Mera Saubhaye Mera
Main Tumko Shish Navata Hoon

Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon
Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon

Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon
Main Tumko Shish Navata Hoon
Aur Dhanye Dhanye Ho Jata Hoon
Ho Jata Hoon Ho Jata Hoon

Hai Bhagye Mera Saubhagye Mera
Main Tumko Shish Navata Hoon
Main Tumko Shish Navata Hoon

, , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply