आराधना आराधना आराधना।

मात चरणों में समर्पित शक्ति संकुल अर्चना। ।

आराधना आराधना आराधना।

पुण्य सलिल सरित पूजित सुरभि रज से देह निर्मित।

मलय शीतल वायु सेवित तेज की ध्रुव साधना। ।

आराधना आराधना आराधना।

मनु भरत से आज तक के अग्नि पुरखों के ह्रदय के।

रक्त शुचि स्वेद कण से सद्य संचित प्रेरणा। ।

आराधना आराधना आराधना।

कर्म में रत कामना हो ध्यैय भक्ति भावना हो।

मरण जीवन हो निरंतर जननी तव पद प्रार्थना। ।

आराधना आराधना आराधना।

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply