पावन जीवन दान तुम्हारा
महा मनीषी हे युग द्रष्टा
पावन जीवन दान तुम्हारा।

भव्य भगीरथ भारत माँ के
लाये भू पर गंगाधारा।
महादेव बनकर माधव ने
जटाजूट में इसे संवारा।
धरती पर मनु के पुत्रों को
मिला मुक्ति का मन्त्र तुम्हारा।
विश्व गगन में चमक रहा है
संघ शक्ति बन तेज तुम्हारा।
पावन जीवन दान

पावक पावन यज्ञ धूम से
रौद्र रुप तुम महा ज्वाल थे।
वेद ऋचा सम ज्ञान असीमित
संस्कृति के वर वट विशाल थे।
पतझर में मधुमास बने तुम
बन बसंत जग में पग धारा।
कोटि-कोटि जन मन का शुचितम
सम्बल है पाथेय तुम्हारा।
पावन जीवन दान

कंकर कंकर को गढ़ शंकर
कितने तुमने देव बनाये।
कितने ध्यानी ज्ञानी साधक
संत तपस्वी हैं उपजाये॥
एक दीप से जला दूसरा
फैल रहा घर-घर उजियारा।
मिला आप से कर्म योग का
धर्म भूमि पर अमर सहारा॥
पावन जीवन दान

राष्ट्र प्रेम की अमर सुहानी
सुरसरि धारा सरल सुहावनि।
जिसको पाकर धन्य हुई है
जन्म दायिनी जननी पावनि॥
अमर धरा के अमर पुत्र हो
अमर तुम्हारी चिन्तन धारा॥
पुण्य भूमि पर ज्योति पुरुष का
अभिनन्दन करता जग सारा॥
पावन जीवन दान

pāvana jīvana dāna tumhārā
mahā manīṣī he yuga draṣṭā
pāvana jīvana dāna tumhārā |

bhavya bhagīratha bhārata mā ke
lāye bhū para gaṁgādhārā |
mahādeva banakara mādhava ne
jaṭājūṭa meṁ ise saṁvārā |
dharatī para manu ke putroṁ ko
milā mukti kā mantra tumhārā |
viśva gagana meṁ camaka rahā hai
saṁgha śakti bana teja tumhārā |
pāvana jīvana dāna

pāvaka pāvana yajña dhūma se
raudra rupa tuma mahā jvāla the |
veda ṛcā sama jñāna asīmita
saṁskṛti ke vara vaṭa viśāla the |
patajhara meṁ madhumāsa bane tuma
bana basaṁta jaga meṁ paga dhārā |
koṭi-koṭi jana mana kā śucitama
sambala hai pātheya tumhārā |
pāvana jīvana dāna

kaṁkara kaṁkara ko gaṛha śaṁkara
kitane tumane deva banāye |
kitane dhyānī jñānī sādhaka
saṁta tapasvī haiṁ upajāye ||
eka dīpa se jalā dūsarā
phaila rahā ghara-ghara ujiyārā |
milā āpa se karma yoga kā
dharma bhūmi para amara sahārā ||
pāvana jīvana dāna

rāṣṭra prema kī amara suhānī
surasari dhārā sarala suhāvani |
jisako pākara dhanya huī hai
janma dāyinī jananī pāvani ||
amara dharā ke amara putra ho
amara tumhārī cintana dhārā ||
puṇya bhūmi para jyoti puruṣa kā
abhinandana karatā jaga sārā ||
pāvana jīvana dāna

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply