Yah Bhagavaadhvaj Phahare | यह भगवाध्वज फहरे । प्राची के मुख की अरुण ज्योति। एकल गीत। ekal geet

प्राची के मुख की अरुण ज्योति

यह भगवाध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।२

यह वह्नि – शिखा का वेश किए , गत वैभव का संदेश लिए ,

हिंदू संस्कृति का अचल रूप , यह भगवा ध्वज फहरे

यह भगवा ध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

भारत माता का उच्च भाल – आर्यों के डर की अग्नि ज्वाल

इस राष्ट्रभक्ति का असर चिन्ह , यह भगवाध्वज फहरे।

यह भगवा ध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

यह चंद्रगुप्त कर की कृपाण , विक्रमादित्य का शिरस्त्राण ?

इस आर्य देश का कठिन कवच , यह भगवाध्वज फहरे।

यह भगवा ध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

वंदा गुरु के बलिदानों से , रक्षित छत्ता के प्राणों से ,

नीतिज्ञ शिवा का विजय केतु , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

यह भगवा ध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

प्राचीन के मुख की अरुण ज्योति

यह भगवाध्वज फहरे , यह भगवा ध्वज फहरे। ।

Leave a Reply