दीजिए आशीष अपना भावमय है याचना॥

जीत ले जग का ह्रदय जो आपका वह शील अनुपम।
वज्र को नवनीत कर दे स्नेह वाणी सुधा सम।
मातृ भू की वेदना जो आपके उर में पली थी।
अंश भी हमको मिले तो पूर्ण होवे साधना॥ दीजिए ॥

आपकी ही प्रेरणा से ध्येय पथ पर बढ़ रहे है।
आपसे ज्योतित अनेकों दीप तिल -तिल जल रहे है।
राष्ट्र-जीवन का गहन तम शीघ्र ही मिटकर रहेगा।
सुप्त हिन्दू राष्ट्र को दी आपने नवचेतना ॥दीजिए ॥

मार्ग संकटपूर्ण है पर आप हैं जब मार्ग दर्शक ।
शूल भी होंगे सुमन जब जी रहे हैं कोटि साधक।
दीजिए वह शक्ति जिससे बढ़ सकें पथ पर निरन्तर।
कर सकें साकार ऋषिवर आपकी हम कल्पना॥ दीजिए ॥

dījie āśīūṣa apanā bhāvamaya hai yācanā ||

jīta le jaga kā hradaya jo āpakā vaha śīla anupama |
vajra ko navanīta kara de sneha vāṇī sudhā sama |
mātṛ bhū kī vedanā jo āpake ura meṁ palī thī |
aṁśa bhī hamako mile to pūrṇa hove sādhanā || dījie ||

āpakī hī preraṇā se dhyeya patha para baṛha rahe hai |
āpase jyotita anekoṁ dīpa tila -tila jala rahe hai |
rāṣṭra-jīvana kā gahana tama śīghra hī miṭakara rahegā |
supta hindū rāṣṭra ko dī āpane navacetanā ||dījie ||

mārga saṁkaṭapūrṇa hai para āpa haiṁ jaba mārga darśaka |
śūla bhī hoṁge sumana jaba jī rahe haiṁ koṭi sādhaka |
dījie vaha śakti jisase baṛha sakeṁ patha para nirantara |
kara sakeṁ sākāra ṛṣivara āpakī hama kalpanā || dījie ||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply