दुःशासन की तोड़ भुजाएँ पंचाली का शोक हरेंगे
काट तमिस्रा की काराएँ कण-कण में आलोक भरेंगे

हमने पहचाना है उनको जो समाज को तोड़ रहे हैं।
भारतीय चिन्तन की धारा छल दलसे जो मोड़ रहे हैं।
हम अपनी संगठन शक्ति से षड्यंत्रों पर रोक करेंगे॥१॥

अत्याचारी शासन में ही भंग हुई हैं मर्यादाएँ
करुणा की धरती पर लुटती सत्य अहिंसा की आत्माएँ
हम विजिगीषु वृत्ति के वाहक तीक्ष्ण शरों की नोक करेंगे॥२॥

हर दंभ का दर्प दलन कर रोपेंगे हम विजय पताका
रच देंगे अभिनय समाज हम सत्य शील समता ममता
उच्चादर्शो की आभा से आलोकित यह लोक करेंगे॥३॥

वीर व्रती हम ध्येयनिष्ठा हैं विजयशालिनी शान्ति खड़ी है।
भारत माँ के श्रीचरणों में सदा समर्पित भक्ति खड़ी है।
कोटिक कंठों से उच्चारित हिन्दु राष्ट्र का श्लोक करेंगे॥४॥

duaḥśāsana kī toṛa bhujāe paṁcālī kā śoka hareṁge
kāṭa tamisrā kī kārāea kaṇa-kaṇa meṁ āloka bhareṁge

hamane pahacānā hai unako jo samāja ko toṛa rahe haiṁ |
bhāratīya cintana kī dhārā chala dalase jo moṛa rahe haiṁ |
hama apanī saṁgaṭhana śakti se ṣaḍyaṁtroṁ para roka kareṁge ||1||

atyācārī śāsana meṁ hī bhaṁga huī haiṁ maryādāe
karuṇā kī dharatī para luṭatī satya ahiṁsā kī ātmāe
hama vijigīṣu vṛtti ke vāhaka tīkṣṇa śaroṁ kī noka kareṁge ||2||

hara daṁbha kā darpa dalana kara ropeṁge hama vijaya patākā
raca deṁge abhinaya samāja hama satya śīla samatā mamatā
uccādarśo kī ābhā se ālokita yaha loka kareṁge ||3||

vīra vratī hama dhyeyaniṣṭhā haiṁ vijayaśālinī śānti khaṛī hai |
bhārata mā ke śrīcaraṇoṁ meṁ sadā samarpita bhakti khaṛī hai |
koṭika kaṁṭhoṁ se uccārita hindu rāṣṭra kā śloka kareṁge ||4||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply