कंटक पथ अपनाना सीखें।
जियें देश के लिए देश हित तिल-तिल कर मर जाना सीखें॥

राग-रंग की नव तरंग में माँ की याद भुलाते आये
भुल गये अपने वैभव को यश औरों का गाते आये।
असिधारा का व्रत अपनाकर बूँद-बूँद ढल जाना सीखें।
कंटक पथ अपनाना सीखें ॥१॥

बढ़े चलें निज ध्येय बिन्दु तक जग का सुख ऐश्वर्य भुलाकर
दूर करें पथ का अँधियारा निज जीवन का दीप जलाकर
अडिग रहे जो झंझा में भी ऐसी ज्योति जगाना सीखें॥२॥

अपमानों की याद जगाकर सुने करुण माता का क्रन्दन
कोटि-कोटि कण्टों से गूँजे आज पुनः प्रलयंकर गर्जन
जननी के पावन चरणों में जीवन पुष्प चढ़ाना सीखें
कंटक पथ अपनाना सीखें॥३॥

kaṁṭaka patha apanānā sīkheṁ |
jiyeṁ deśa ke lie deśa hita tila-tila kara mara jānā sīkheṁ ||

rāga-raṁga kī nava taraṁga meṁ mā kī yāda bhulāte āye
bhula gaye apane vaibhava ko yaśa auroṁ kā gāte āye |
asidhārā kā vrata apanākara būda-būda ḍhala jānā sīkheṁ |
kaṁṭaka patha apanānā sīkheṁ ||1||

baṛhe caleṁ nija dhyeya bindu taka jaga kā sukha aiśvarya bhulākara
dūra kareṁ patha kā adhiyārā nija jīvana kā dīpa jalākara
aḍiga rahe jo jhaṁjhā meṁ bhī aisī jyoti jagānā sīkheṁ ||2||

apamānoṁ kī yāda jagākara sune karuṇa mātā kā krandana
koṭi-koṭi kaṇṭoṁ se gūje āja punaḥ pralayaṁkara garjana
jananī ke pāvana caraṇoṁ meṁ jīvana puṣpa caṛhānā sīkheṁ
kaṁṭaka patha apanānā sīkheṁ ||3||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply