ये उथल-पुथल उत्ताल लहर पथ से न डिगाने पायेगी।
पतवार चलाते जायेंगे मंजिल आयेगी-आयेगी॥

लहरों की गिनती क्या करना कायर करते हैं करने दो।
तूफानों से सहमे जो हैं पल-पल मरते हैं मरने दो॥
चिर पावन नूतन बीज लिये मनु की नौका तिर जायेगी॥
पतवार चलाते जायेंगे ॥

अनगिन संकट जो झेल बढ़ा वह यान हमारा अनुपम है
नायक पर है विश्वास अटल दिल में बाहों में दमखम है
यह रैन-अंधेरी बीतेगी ऊषा जय-मुकुट चढ़ायेगी॥
पतवार चलाते जायेंगे ॥

विध्वंसों का ताण्डव फैला हम टिके सृजन के हेम -शिखर
हम मनु के पुत्र प्रतापी हैं वर्चस्वी धीरोदत्त प्रखर।
असुरों की कपट कुचाल कुटिल श्रध्दा सबको सुलझायेगी॥
पतवार चलाते जायेंगे ॥

इतिहास हमारा संबल है विज्ञान हमारा है भुजबल
गत वैभव का आदर्श आज कर देगा भावी भी उज्ज्वल।
नूतन निर्मिति की तृप्ति अमर फिर गीत विजय की गायेगी।
पतवार चलाते जायेंगे ॥

इस धरती में शक हूण मिटे गजनी गौरी अरु अब्दाली
पश्चिम की लहरें लौट गई ले ले अपनी झोली खाली।
पूँजीशाही बर्बरत सब ये धरती उदर समायेगी।
पतवार चलाते जायेंगे मंजिल आयेगी -आयेगी।
ये उथल-पुथल उत्ताल लहर

ye uthala-puthala uttāla lahara patha se na ḍigāne pāyegī |
patavāra calāte jāyeṁge maṁjila āyegī-āyegī ||

laharoṁ kī ginatī kyā karanā kāyara karate haiṁ karane do |
tūphānoṁ se sahame jo haiṁ pala-pala marate haiṁ marane do ||
cira pāvana nūtana bīja liye manu kī naukā tira jāyegī ||
patavāra calāte jāyeṁge ||

anagina saṁkaṭa jo jhela baṛhā vaha yāna hamārā anupama hai
nāyaka para hai viśvāsa aṭala dila meṁ bāhoṁ meṁ damakhama hai
yaha raina-aṁdherī bītegī ūṣā jaya-mukuṭa caṛhāyegī ||
patavāra calāte jāyeṁge ||

vidhvaṁsoṁ kā tāṇḍava phailā hama ṭike sṛjana ke hema -śikhara
hama manu ke putra pratāpī haiṁ varcasvī dhīrodatta prakhara |
asuroṁ kī kapaṭa kucāla kuṭila śradhdā sabako sulajhāyegī ||
patavāra calāte jāyeṁge ||

itihāsa hamārā saṁbala hai vijñāna hamārā hai bhujabala
gata vaibhava kā ādarśa āja kara degā bhāvī bhī ujjvala |
nūtana nirmiti kī tṛpti amara phira gīta vijaya kī gāyegī |
patavāra calāte jāyeṁge ||

isa dharatī meṁ śaka hūṇa miṭe gajanī gaurī aru abdālī
paścima kī lahareṁ lauṭa gaī le le apanī jholī khālī |
pūjīśāhī barbarata saba ye dharatī udara samāyegī |
patavāra calāte jāyeṁge maṁjila āyegī -āyegī |
ye uthala-puthala uttāla lahara

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply