26 जुलाई.. रविवार का दिन.. घर में बेफिक्र उस्मान.. फोन की घंटी बजी.. ट्रिंग-ट्रिंग.. ट्रिंग-ट्रिंग.. उस्मान ने फोन उठाया। मन की बात कार्यक्रम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फोन। उस्मान की ख़ुशी का ठिकाना न रहा। उस्मान ने कहा, “उसे यकीन नहीं हो रहा था कि वह दुनिया के सबसे अच्छे नेता से बात कर रहा था।”

उस्मान सैफी अमरोहा (उत्तर प्रदेश) के गुदड़ी के रहने वाले हैं। इनके पिता कबाड़ की दुकान चलाते हैं। पिता की कबाड़ की दुकान और बेटा 12वीं में 97.80% अंक लाकर टॉप करे। यह पिता और बेटे दोनों के लिए गर्व की बात है। ऐसे में बधाई देने के लिए मन की बात कार्यक्रम से प्रधानमंत्री का फोन। सोने पर सुहागा। उस्मान ने बताया, प्रधानमंत्री से बात कर के वह बहुत ख़ुश है और अपनी ख़ुशी शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। प्रधानमंत्री मोदी ने उस्मान को वैदिक गणित पढ़ने और दोस्तों को भी पढ़ाने की सलाह दी।

आजतक से बात करते वक़्त उस्मान ने बताया कि उनके पिता कबाड़ की दुकान चलाते हैं.. फिर भी उन्होंने उस्मान की पढ़ाई में कोई कमी नहीं की। विषम परिस्थितियों का सामना करते हुए उन्होंने उस्मान को पढ़ाया।

मन की बात में बात की

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने अमरोहा के उस्मान के अलावा पानीपत की कृतिका नांदल, नमक्कल (तमिलनाडु) के कनिगा से बात की और उन्हें बधाई दी। प्रधानमंत्री ने कहा, “जितना संभव हो मैं ऐसे युवा मित्रों से बात करना चाहता हूं जिनकी कहानियां साहस और सफलता के लिए प्रेरित करती है।

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply