परदेश से घर लौटे प्रवासी मजदूरों के लिए अपने घर पर रोजगार खोजना धीरे धीरे चुनौती बनती जा रही है। ऐसे में पूर्णिया प्रशासन की एक बड़ी पहल सामने आ रही है।

केरल से पूर्णिया लौटे थे प्रवासी मजदूर

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक पूर्णिया के लगभग 73 मजदूर कुछ दिन पहले ही केरल से लौटे हैं। ये सब के सब अभी फेस मास्क बनाने का काम कर रहे हैं। इनमें से एक मोहम्मद हाकिम ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया “हमने कभी नहीं सोचा था कि एक तरफ जहाँ कोरोना महामारी के चलते सबलोग अपनी नौकरी खो रहे हैं, वहाँ हमलोगों को अपनी मर्जी का काम मिल जाएगा।” जब उनसे वापस केरल जाने के बारे में उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अब तो हम ऐसा सोच भी नहीं सकते। वहीं एक दूसरे मजदूर मुहम्मद कमल ने कहा कि हमारे लिए ईद का इससे बड़ा तोहफा क्या होगा कि हमें अपने घर पे ही काम उपलब्ध करा दिया जाएगा।

DM राहुल कुमार ने की थी पहल

पूर्णिया के DM राहुल कुमार ने कहा कि जब हम क्वारंटीन सेन्टर में प्रवासी मजदूरों के स्किल के बारे में जानकारी ले रहे थे, तब हमें पता चला कि यहाँ के कई मजदूर सिलाई में उस्ताद हैं। उनकी पहचान की गई एवं उन्हें तीन लेयर वाले मास्क बनाने का काम दिया गया। इससे मजदूरों की अच्छी-खासी आमदनी होने की संभावना है।

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply