Bhole Baba Ki Shadi Ka hai Tyohaar Ji Shivratri Bhajan Lyrics | भोले बाबा की शादी का है त्योहार जी शिवरात्रि भजन लिरिक्स

दोहा
भूतो और प्रेतों का मेला, है कैलाश पे लागा,
दूल्हा बनने आज चले है, मेरे भोले बाबा।
नंदी बैल पे आ बैठे है, पी के भांग का प्याला,
पार्वती के द्वार चले है, रूप बना मतवाला।

आओ आओ सर्पो की माला लाओ, कोई तन पे भस्म रमाओ,
करो भोलो को तैयार जी, भोले बाबा की शादी का, है त्योहार जी।।

सर्पो का सेहरा और, बिच्छू के कुंडल,
नाग गले के हार बने, भांग धतूरे का,
पी कर के प्याला, नंदी बैल पे आ बैठे,
तन पे ओढ़ी है मृगछाला, अद्भुत रूप निराला,
नंदी भृंगी झमा झम नाचे, नगाड़े है बाजे,
बाराती है तैयार जी, भोलें बाबा की शादी का, है त्योहार जी।।

Bhooto Aur Preto Ka Mela Hai Kailash Par Laga
Dulha Banne Aaj Chale Hai Mere Bhole Baba
Nandi Bel Pr Aa Beithe Hai Pi Ke Bhang Ka Pyala
Parvati Ke Dwaar Chale Hai Roop Bana Matwala

Aao Aao Sarpo Ki Maala Laao
Koi Tan Pe Bhasm Ramao
Karo Bholo Ko Taiyaar Ji
Bhole Baba Ki Shadi Ka Hai Tyohaar Ji

Sarpo Ka Sehra Aur Bicchu Ke Kudal
Naag Gale Ke Haar Bane Bhang Dhature Ka
Pi Kar Ke Pyala Nandi Bel Pe Aa Baithe
Tan Pe Odhi Hai Mragchhala Adbudh Roop Nirala
Nandi Bhrangi Jhama Jham Naache Nagade Hai Baaje
Barati Hai Taiyaar Ji Bhole Baba Ki Shadi Ka Hai Tyohaar Ji

Leave a Reply