बुध ग्रह के मंत्र || Budh Grah Ke Mantra
बुध ग्रह के वैदिक मंत्र || Budh Grah Ke Vedic
ऊँ उद्बुध्यस्वाग्ने प्रतिजागृहि त्वमिष्टापूर्ते स सृजेथामयं च ।

अस्मिन्त्सधस्थे अध्युत्तरस्मिन्विश्वे देवा यजमानश्च सीदत ।।

बुध ग्रह के तांत्रिक मंत्र || Budh Grah Ke Tantrik Mantra

ऊँ ऎं स्त्रीं श्रीं बुधाय नम:
ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:
ऊँ स्त्रीं स्त्रीं बुधाय नम:
बुध ग्रह एकाक्षरी बीज मंत्र || Budh Grah Ke Beej Mantra
बुध ग्रह का पौराणिक मंत्र || Budh Grah Ke Poranik Mantra

प्रियंगुकलिकाश्यामं रुपेणाप्रतिमं बुधम । सौम्यं सौम्यगुणोपेतं तं बुधं प्रणमाम्यहम ।।

बुध ग्रह का गायत्री मंत्र || Budh Grah Ka Gayatri Mantra

ऊँ चन्द्रपुत्राय विदमहे रोहिणी प्रियाय धीमहि तन्नोबुध: प्रचोदयात ।
ऊँ बुं बुधाय नम:

, ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply