हम आज प्रगति की ओर चले॥

उर में जननी की अमर भक्ति भर नस-नस में उत्साह नया
पग में तूफानों की गति ले
हम आज प्रगति की ओर चलें॥१॥

हैं घोर निराशा के बादल छाये स्वदेश -गगनांगन में
घिर रही घोर रजनी काली
हम ले प्रकाश की ज्योति चले॥२॥

गा गंगा-यमुना के गायन केसरिया बाना पहन-पहन
सुख और शांति के लिये आज
हम सूर्यकेतू ले हाथ चले॥३॥

केशव की पावन स्मृति ले हम बन संघ कार्य के अनुगामी
माँ का मन्दिर जो ध्वस्त पड़ा
उसकी नव -रचना हेतु चले॥४॥

है जाग उठे भारत माँ के सच्चे वीर पुजारी सब
हँस-हँस कर जीवन-कुसुम चढ़ा
हम माँ के पूजन हेतु चले॥५॥

hama āja pragati kī ora cale ||

ura meṁ jananī kī amara bhakti bhara nasa-nasa meṁ utsāha nayā
paga meṁ tūphānoṁ kī gati le
hama āja pragati kī ora caleṁ ||1||

haiṁ ghora nirāśā ke bādala chāye svadeśa -gaganāṁgana meṁ
ghira rahī ghora rajanī kālī
hama le prakāśa kī jyoti cale ||2||

gā gaṁgā-yamunā ke gāyana kesariyā bānā pahana-pahana
sukha aura śāṁti ke liye āja
hama sūryaketū le hātha cale||3||

keśava kī pāvana smṛti le hama bana saṁgha kārya ke anugāmī
mā kā mandira jo dhvasta paṛā
usakī nava -racanā hetu cale ||4||

hai jāga uṭhe bhārata mā ke sacce vīra pujārī saba
hasa-hasa kara jīvana-kusuma caṛhā
hama mā ke pūjana hetu cale ||5||

, , , , , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply