महादेव शंकर हैं जग से निराले,
बड़े सीधे साधे बड़े भोले भाले ।
मेरे मन के मदिर में रहते हैं शिव जी,
यह मेरे नयन हैं उन्हीं के शिवालय ॥

बनालो उन्हें अपने जीवन की आशा,
सदा दूर तुमसे रहेगी निराशा ।
बिना मांगे वरदान तुमको मिलेगा,
समझते हैं वो तो हरेक मन की भाषा ॥
वो उनके हैं जो उनको अपना बनाले..॥

महादेव शंकर हैं जग से निराले,
बड़े सीधे साधे बड़े भोले भाले ॥

जिधर देखो शिव की है महिमा निराली,
ये दाता है और सारी दुनिया सवाली ।
जो इस द्वार पे अपना विशवास कर ले,
तो पल भर में भर जायेगी झोली खाली ॥
उनही के अँधेरे, उनही के उजाले..॥

महादेव शंकर हैं जग से निराले,
बड़े सीधे साधे बड़े भोले भाले ।
मेरे मन के मदिर में रहते हैं शिव जी,
यह मेरे नयन हैं उन्हीं के शिवालय ॥

 

Mahadev Shankar Hain Jag Se Nirale,
Bade Sidhe Sadhe Bade Bhole Bhale ।
Mere Man Ke Madir Mein Rahate Hain Shiv Ji,
Yah Mere Nayan Hain Unhin Ke Shivalay ॥

Banalo Unhen Apne Jeevan Ki Aasha,
Sada Dur Tumse Rahegi Nirash ।
Bina Mange Vardan Tumko Milega,
Samajhte Hain Vo to Harek Ki Man Ki Bhasha ॥
Vo Unke Hain Jo Unko Apna Banale… ॥
॥ Mahadev Shankar Hain… ॥

Mahadev Shankar Hain Jag Se Nirale,
Bade Sidhe Sadhe Bade Bhole Bhale ।

Jidhar Dekho Shiv Ki Hai Mahima Nirali,
Ye Data Hai Aur Sari Duniya Savali ।
Jo Is Dwar Pe Apna Vishwas Kar Le,
To Pal Bhar Mein Bhar Jayegi Jholi Khali ॥
Unahi Ke Andhere, Unahi Ke Ujale… ॥
॥ Mahadev Shankar Hain… ॥

Mahadev Shankar Hain Jag Se Nirale,
Bade Sidhe Sadhe Bade Bhole Bhale ।
Mere Man Ke Madir Mein Rahate Hain Shiv Ji,
Yah Mere Nayan Hain Unhin Ke Shivalay ॥

, , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply