तन मन की सुध विसर गई है ,
सन्मुख भोले नाथ खड़े है ।
इक टक सारे देख रहे है,
पार्वती जी साथ खड़े है ।।

शिव मंदिर में आ पहुंचे है
भक्त तुम्हरे भोर हुए,
अध्भुत छवि निराली देख के
सब आत्म अभिभोर हुए ।

छू कर इन पावन चरणों को,
आन्दित हम और हुए,
इक टक सारे देख रहे है,
पार्वती जी साथ खड़े है ।।

देवी देवता और मुनिवर,
खड़े है सब तुझको घेरे,
प्रेम की गंगा उमड़ पड़ी है,
आये है जो द्वार तेरे ।

मन में कैसी लहर उठी है
लगते सब हर्ष भरे,
इक टक सारे देख रहे है,
पार्वती जी साथ खड़े है ।।

भगभागि वो नर नारी है,
तुम संग जिनकी प्रीत बड़ी,
उनके ताप हए है शीतल,
जिनपे तेरी नजर पड़ी ।

सारी विपदा हर लेते हो,
लगे न तुम को इक घड़ी ,
इक टक सारे देख रहे है,
पार्वती जी साथ खड़े है ।।

 

Tan Man Ki Sudh Bisar Gayi Hai
Sanmukh Bholenath Khade Hai
Ek Tak Sare Dekh Rahe Hai
Parvati Ji Sare Sath Khade Hai

Shiv Mandir Me Aa Phuche Hai
Bhakt Tumhare Bhor Huye
Adbudh Chhavi Nirali Dekh Ke
Sab Aatma Vibhor Huye

Chhuu Kar In Pawan Charno Ko
Aanandit Hum Aur Huye
Ek Tak Sare Dekh Rahe Hai
Parvati Ji Sath Khade Hai

Devi Devta Aur Munivar
Khade Hai Sab Tujhko Ghere
Prem Ki Ganga Umad Padi Hai
Aaye Hai Jo Dwar Tere

Man Me Kaisi Lahar Uthi Hai
Lagte Sab Harsh Bhare
Ek Tak Sare Dekh Rahe Hai
Parvati Ji Sath Khade Hai

Bhagbani Wo Nar Naari Hai
Tum Sang Jinki Preet Badi
Unke Taap Huye Hai Shital
Jinpe Teri Nazar Padi

Sari Vipda Har Lete Ho
Lage Na Tum Ko Ek Ghadi
Ek Tak Sare Dekh Rahe Hai
Parvati Ji Sath Khade Hai

, , , , , , , , ,

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply