कावड़ हरिद्वार से ठाई , भोले तेरे भरोसे पे

इब तेरे ते लगन लगाई , भोले तेरे भरोसे पे

नाचे कूदे बोले बम बम
लेके चाल पड़े कावड़ हम
Dj पे भी धूम मचाई , भोले तेरे भरोसे पे

कांधे ऊपर बाधी झोली
मस्ती में सब भोला भोली
टोली जगह जगह आई , भोले तेरे भरोसे पे

पीवे गांजा भांग अघोरी
जय जय जयकार भोले की हो रही
कावड़ धाकड़ है बनवाई , भोले तेरे भरोसे पे

भूलन त्यागी भजन बनावे
भर उमंग में हरीश भी गावे
सबने ताली मस्त बजाई , भोले तेरे भरोसे पे

मैं एक पत्नी होने के साथ साथ गृहिणी एवं माँ भी हुँ । लिखने का हुनर... ब्लॉग लिखती रहती हु... सनातन ग्रुप एक सकारात्मक ऊर्जा, आत्मनिर्भर बनाने की प्रेरणा देती जीवनी, राष्ट्रभक्ति गीत एवं कविताओं की माला पिरोया है । आग्रह :आपको पसन्द आये तो ऊर्जा देने के लिए शेयर एवं अपने सुझाव दीजिए ।

शालू सिंह

🙏 सकारात्मक जानकारी को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें 👇

Leave a Reply