ओम् का सिमरन किया करो , प्रभु के सहारे जिया करो । लिखित भजन Om Nam Sumiran Lyrics

ओम् का सिमरन किया करो,प्रभु के सहारे जिया करो।
जो दुनिया का मालिक है , नाम उसी का लिया करो ।

सुर दुर्लभ मानव तन तूने बड़े भाग्य से पाया है
विषयों में फंस करके बन्दे हीरा जन्म गंवाया है
दुष्ट संग न किया करो , सज्जनों से गुण लिया करो ।
जो दुनिया का मालिक है , नाम उसी का लिया करो ॥ १ ॥

पता नहीं कब रूक जाए चलते चलते श्वासा ।
इक क्षण में सब खत्म हो जाए जग का सभी तमाशा । । । सुबह शाम जप किया करो , याद प्रभु को किया करो ।
जो दुनिया का मालिक है , नाम उसी का लिया करो ॥ २ ॥

हर प्राणी से प्यार करो सब में वही समाया है ।
मिलकर रहना सब हैं अपने कोई नहीं पराया है ।
द्वेष भाव न किया करो , दुःख न किसी को दिया करो ।
जो दुनिया का मालिक है , नाम उसी का लिया करो ॥ ३ ॥

सच्चा सुख है प्रभु भक्ति में बात न समझो झठी
वही अमर पद पाते , जो पीते नाम की बूटी
प्रभु नाम रस पिया करो , राघव भूल न किया करो ।
जो दुनिया का मालिक है , नाम उसी का लिया करो ॥ ४ ॥

Leave a Reply